जन्माष्टमी की रात मोर पंख से दूर होगा कालसर्प दोष, Janmashtami remedies for you

50 Views

23 व 24 अगस्त को जन्माष्टमी की धूम हर तरफ है। कहते हैं कृष्ण के जन्म से हर तरफ खुशियां छा जाती है ,ऊर्जा का संचार होगा।कृष्ण का जन्म नई खुशियों लेकर आता है। जन्माष्टमी पर  कृष्ण से जुड़े कुछ उपाय  है, जो जीवन में नई उमंग, प्रेम और उत्साह का संचार करते हैं। जानते हैं इनके बारे में।

वास्तु के अनुसार घर में भगवान श्रीकृष्ण का चित्र लगाना बहुत शुभ माना गया है।

वासुदेव द्वारा कान्हा को टोकरी में लेकर नदी पार करने वाला चित्र घर में लगाने से कई तरह की समस्याएं दूर हो जाती हैं। कान्हा का माखन खाते हुए चित्र रसोई घर में लगाएं।माना जाता है कि ऐसा करने से भंडार भरे रहते हैं।

शयन कक्ष में किसी भी देवी देवता का चित्र नहीं लगाना चाहिए, लेकिन श्री राधा-कृष्ण का चित्र शयनकक्ष में लगा सकते हैं। महाभारत युद्ध दर्शाने वाले चित्र घर में नहीं लगाने चाहिए। बांसुरी भगवान श्रीकृष्ण को अतिप्रिय है। बांसुरी को घर में रखने से सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह रहता है। साथ ही वास्तु दोष भी दूर हो जाते हैं।


अगर घर की एक सीध में तीन दरवाजे हैं तो इस वास्तु दोष को दूर करने के लिए घर के मुख्य द्वार पर दो बांसुरी लगाएं। घर में अगर कोई सदस्य रोगी है तो उसके तकिए के नीचे बांस की बांसुरी रखना शुभ होता है। भगवान श्रीकृष्ण को अपने शृंगार में मोर पंख सबसे ज्यादा प्रिय हैं।
मोर पंख अर्पित करने वाले भक्तों पर भगवान श्रीकृष्ण कृपा बरसाते हैं। जन्माष्टमी की रात्रि तकिए के नीचे सात मोर रखें ऐसा करने से कालसर्प दोष दूर हो जाता है। घर में मोरपंख रखने से सुख शांति आती है। मोरपंख को पर्स में रखने से पर्स कभी खाली नहीं होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *