Insurance companies will give insurance on these diseases from now onward

407 Views

Insurance companies will give insurance on these diseases from now onward

बीमाधारकों के लिए खुशखबरी है। अब तक कई गंभीर बीमारियों और जोखिम भरी गतिविधियों को पॉलिसी में न शामिल करने वाली बीमा कपंनियां अब इसे हेल्थ कवर से बाहर नहीं कर पाएंगी। इस फैसले से लाखों बीमाधारकों को फायदा होगा।

सोमवार को बीमा नियामक ने कहा कि उम्र संबंधी समस्या जैसा कैटरैक्ट सर्जरी, नी-कैप रिप्लेसमेंट, अल्जाइमर और पार्किंसन्स भी अब कवर होगा, जबकि फैक्ट्री कर्मचारी, खतरनाक रसायन के साथ काम करने वाले लोग, जिनके स्वास्थ्य पर इसका दीर्घ अवधि में बुरा असर होता है, उनके सांस और त्वचा संबंधी इलाज से इनकार नहीं किया जा सकेगा।

दरअसल बीमा नियामक इंश्योरंस एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (IRDA) ने बीमारियों को दायरे से बाहर करने का मानकीकरण कर दिया है। अगर बीमा कंपनी एचआईवी या एड्स, एपिलेप्सी, किडनी की गंभीर बीमारी को कवर नहीं करना चाहती है तो इसके लिए खास शब्द इस्तेमाल होंगे और एक खास वेटिंग पीरियड (30 दिन से एक साल) होगा, फिर कवर शुरू होगा।

इरडा ने कहा, ‘अगर एक व्यक्ति को एक कंपनी से दूसरे में ट्रांसफर किया जाता है और अगर उसने वेटिंग पीरियड की जरूरतों का एक हिस्सा पूरा कर लिया है तो नई कंपनी उस पर सिर्फ अनएक्सफायर्ड वेटिंग पीरियड लागू कर सकती है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *